April 30, 2011

'ये गुलों का रंगीं शहर है '



यह तस्वीर गिनिस रिकॉर्ड साईट से  साभार ली है
'ये गुलों का रंगीं शहर है '..जी हाँ, जिस शहर में मैं रहती हूँ उसी शहर  'अलैन ' को एमिरात का 'बागों का शहर' /'फूलों का शहर' सालों से कहा जाता है.
अब तो यहाँ इस नाम को सार्थक करता  है यहाँ बना फूलों का एक ऐसा अनूठा बाग़ जिस का नाम  गिनिस बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज़ हो गया है.

२० मार्च ,२०१० में गिनिस बुक ऑफ रिकार्ड में  दर्ज़ यह सबसे अधिक झूलते फूलों का बाग़ घोषित  किया गया  और इस साल भी इसने यह  रिकॉर्ड को बनाये रखा है.
2,968 झूलते  गमलों में खिलते फूलों का दुनिया का यह एकमात्र बाग़ घोषित किया गया.
सोमवार  28 फरवरी  2011 को इसकी ओपनिंग सेरेमनी थी और उसके बाद इसे जनता के लिए खोल दिया गया था.

रेगिस्तान की जलती गर्मी में खुले आसमान के नीचे इस  बाग़ में खिलते फूलों को देखकर आश्चर्य ज़रूर होता है ,साथ ही उन सभी की मेहनत का अंदाजा भी जो दिन रात यहाँ इन बेशुमार फूलों की देखभाल किया करते हैं .यहाँ कोई प्रवेश टिकिट नहीं है .सप्ताह के सभी दिनों सुबह ८ से शाम १०  तक खुला रहता है . शुक्रवार और वीरवार के दिन यह परिवारों के लिए सुरक्षित है .वहीँ की  कुछ तस्वीरें आप के लिए-
SAM_2520 SAM_2521
me in paradise5 SAM_2550
SAM_3454 SAM_3449
SAM_2543 SAM_3431
SAM_2575 SAM_2532
Paradise Garden,  Al Ain,UAE


60 comments:

Sunil Kumar said...

अल्पना जी जाना तो मुश्किल था लेकिन आपने जानकारी जो दी और चित्र दिखा कर देखने की इच्छा प्रबल कर दी , आभार

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बड़े ही सुन्दर चित्र हैं..

रंजना said...

वाह....कितना मनोहर....

आनंद आ गया....

सच,मच इसे मेंटेन करने में कितना मेहनत लगता होगा...

इन सभी चित्रों को स्लाइड शो में डाल दीजिये न...और हो सके तो कुछ और चित्र(यदि हों तो) साझा कीजिये...

"अर्श" said...

हर चीज़ खुबसूरत है .... आपको इधर सुनने की इक्षा हो रही है ...

अर्श

ajit gupta said...

बहुत सुन्‍दर, मनभावन।

यशवन्त माथुर said...

बहुत अच्छा लगा फूलों और बागों के इस शहर के बारे में जानकर.

सादर

नीरज गोस्वामी said...

वाह..कितना मनोहारी बाग़ है...दिल खुश हो गया...
नीरज

Kailash C Sharma said...

मैंने २,३ बार देखा है..बहुत सुन्दर है...

ghazalganga said...

शुक्रिया अल्पना जी! आपकी कृपा से हमने बैठे-बैठे ही झूलते फूलों के बाग़ की सैर कर ली.
----देवेंद्र गौतम

Kajal Kumar said...

अद्वितिय.

Roshi said...

itni sunder jaankari aapne di hai '''dhanyabad

मनोज कुमार said...

सुंदर तस्वीरों से सजी रोचक जानकारी।

दीपक बाबा said...

.दिल खुश हो गया...

वन्दना अवस्थी दुबे said...

वाह! कितना सुन्दर बाग़ है! सचमुच बहुत मेहनत होती होगी, इसकी देखभाल और रखरखाव में.

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' said...

बहुत खूबसूरत नज़ारे हैं.

प्रवीण पाण्डेय said...

फूलों के सौन्दर्य से सराबोर।

राज भाटिय़ा said...

अति सुंदर धन्यवाद

Udan Tashtari said...

आनन्द आ गय देख कर...हम आये थे तो हमने क्यूँ नहीं देखा....


सब दिगम्बर की गलती है- उसने नहीं दिखवाया.

अगली बार सही...

वाणी गीत said...

रेगिस्तान में इतनी सुन्दर फूलों की बगिया ...
मनमोहक चित्र !

Arvind Mishra said...

इसे ही कहा जाता है न आप आयीं बहार आयी ...
और बिना फूलों के बहार कहाँ ..
अच्छे लगे ये फूल और सहचर
विवरण और गिनेज बुक में शामिल होने वाली जानकारी

Kunwar Kusumesh said...

beautiful

रचना दीक्षित said...

बहुत सुंदर मज़ेदार रही यह सैर और सारी जानकारी. बड़ा मनोहारी दृश्य. आभार.

दिगम्बर नासवा said...

अख़बार में तो पढ़ा था की ये रिकॉर्ड है पर देखने का मौका अभी तक नही मिल पाया ... अब आपके केमरे की पैनी नज़र से देख भी लिया ... सच में कमाल का लग रहा है ...

दिगम्बर नासवा said...

समीर भाई ... ये नया बना है वो भी इसलिए की आप दुबारा आ सको ...

S.M.HABIB said...

मनमोहक दृश्यावली और सुन्दर जानकारी...
आभार...

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुन्दर ...मनमोहक पोस्ट

VIJAY KUMAR VERMA said...

हर चीज़ खुबसूरत है .... आनंद आ गया....

रंजना [रंजू भाटिया] said...

बहुत सुन्दर हर चित्र बहुत सुन्दर है

JHAROKHA said...

alpna di
bahut dino se na to main aapke blog par aa pa rahi hun aur na hi aap .
aapka blogo ka shar chitro ke maadhyam se dekh waqai bemisaal aapka kahan bhi bilkul sahi hai registaan me fulo ko kalpna jaise paani ki tamanna rakhana .
bahut hi achhi post v ek nai jaankari di aapne
hardik badhai
poonam

सतीश सक्सेना said...

बढ़िया सैर कराई आज आपने ! आभार !

आशीष मिश्रा said...

वाह.....................

मुझे बगीचे को देखने से उतनी खुशी नहीं मिल रही है जितनी कि इतने दिनों बाद यहाँ नया पोस्ट देखकर..

इस बगीचे की सैर कराने के लिए बहोत बहोत आभार

अमिताभ श्रीवास्तव said...

इधर मुम्बई में बहुत गरमी और उमस है, मगर आपके ब्लॉग पर आकर बाग-बाग हो गये, न गरमी का अहसास हुआ न उमस का, यहां वह मौजूद था जो गरमी का दुश्मन है....,बहुत सुकून मिला देख-पढकर। जानकारी प्रदत्त और मोहक।

Mukesh Kumar Sinha said...

sach me bahut khubsurat aur manohari.....dil baag baag ho gaya....saare snaps khubsurat hain.:)

BrijmohanShrivastava said...

लगभग पौने चार माह बाद --आपने लिखा कि जहां मै रहती हू उसे बागों का शहर कहा जाता है । मै लिखता तो लिखता कि जहाँ भी मै रहता हूँ उसे ही बागों का शहर कहा जाता है खैर

बहुत उम्दा तस्बीरे। चित्र क्रमांक 5 व 6 का आकार बडा करके भी देखा तीन महिलायें चश्मे वाली बीच की तस्बीर आपसे मिलती जुलती लगी । एसा ही चित्र 6 में भी लगा ।

उम्दा तस्बीरों की प्रस्तुति के लिये धन्यवाद

संजय भास्कर said...

सुन्दर चित्र हैं..

ज्योति सिंह said...

alpana kya khoobsurat shahar ,jannt ke najare to yahi najar aa rahe ,vash me hota to tippani karne ke baad seedhe wahi ki taiyari shuru kar deti par abhi to tumari is post se hi dil bahlana padega .ye haseen aur rangeen najare aankho ko thandak dete hai .beutiful .

Rakesh Kumar said...

बेहतरीन,शानदार मनभावन चित्र और प्रस्तुति.पहली दफा आपके ब्लॉग पर आया ,मन बाग बाग हो गया रेगिस्तान में भी फूलों का शानदार नजारा देखकर.
बहुत बहुत आभार आपका.

मेरे ब्लॉग पर आईये ,आपका हार्दिक स्वागत है.

Anonymous said...

hame khushi hogi, yadi aap BBLM pariwar se jude.
plese visit... http://upkhabar.in

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

सचमुच, बहुत ही प्‍यारा शहर है। इसका दीदार कराने का शुक्रिया।

---------
समीरलाल की उड़नतश्‍तरी।
अंधविश्‍वास की शिकार महिलाऍं।

सुमन'मीत' said...

bahut sundar...dil baag baag ho gya....

डॉ .अनुराग said...

jealous of u...

Mrs. Asha Joglekar said...

Registan me gulistan. Itane sunder photo dekh kar tabiyat bag bag ho gaee.

मीनाक्षी said...

कुदरत की इतनी खूबसूरती दिखाने का शुक्रिया...इस बार आते ही रंगीन महकते फूल देखने का कार्यक्र्म बनाएंगें...

चैतन्य शर्मा said...

बहुत सुंदर फोटोस ...अच्छा लगा देखकर

city said...

अल्पना जी,
नमस्कार,
आप द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी | रंजना सिंह जी ने आग्रह किया है कि इसे स्लाइड शो में प्रस्तुत कीजिये | उन के इस आग्रह को पूरा कीजिये | मैं आपको HTML कोड का लिंक दे रहा हूँ | कोड लिंक : http://cityjalalabad.com/images/scrolling_flowers.txt आप इस लिंक से इस टेक्स्ट फाइल को डाउनलोड करके इसे नोटपैड पर खोलें व सारा कोड कॉपी करके इसे अपने ब्लॉग में जहाँ भी आप चाहें पेस्ट कर दें | आप द्वारा इस पोस्ट पर दिखाई गयी सभी इमेज आप की पोस्ट पर स्लाइड करने लगेंगी | उम्मीद है आपको ये इमेज स्लाइडर पसंद आयेगा |

CS Devendra K Sharma "Man without Brain" said...

virtual yaatra sukhad rahi is sunder shahar ki..........

Babli said...

बहुत ख़ूबसूरत और मनमोहक तस्वीरें हैं! मन प्रसन्न हो गया!

शारदा अरोरा said...

Alpna ji , behad khoobsoorat photographs hain ..

mridula pradhan said...

wah. foolon ki bahar dekh kar maza aa gaya.

Dinesh pareek said...

बहुत ही सुन्दर लिखा है अपने इस मैं कमी निकलना मेरे बस की बात नहीं है क्यों की मैं तो खुद १ नया ब्लोगर हु
बहुत दिनों से मैं ब्लॉग पे आया हु और फिर इसका मुझे खामियाजा भी भुगतना पड़ा क्यों की जब मैं खुद किसी के ब्लॉग पे नहीं गया तो दुसरे बंधू क्यों आयें गे इस के लिए मैं आप सब भाइयो और बहनों से माफ़ी मागता हु मेरे नहीं आने की भी १ वजह ये रही थी की ३१ मार्च के कुछ काम में में व्यस्त होने की वजह से नहीं आ पाया
पर मैने अपने ब्लॉग पे बहुत सायरी पोस्ट पे पहले ही कर दी थी लेकिन आप भाइयो का सहयोग नहीं मिल पाने की वजह से मैं थोरा दुखी जरुर हुआ हु
धन्यवाद्
दिनेश पारीक
http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.com/
http://vangaydinesh.blogspot.com/

Anonymous said...

http://shayari10000.blogspot.com

Vaneet Nagpal said...

आप चाहें तो इस स्लाइडर की स्पीड बढ़ा भी सकती हैं | id="JPSCROLL_speed">15
देखिये जहाँ JPSCROLl_speed=15 लिखा हैं वहां पर आप 20 या 25 आप जितनी भी स्पीड बढ़ाना चाहे अपने मन माफिक तय करें व इसे सेव कर लें |

Sachin Malhotra said...

सुन्दर तस्वीरों के साथ एक उम्दा पोस्ट !बहुत ही बढ़िया.... शुक्रिया शेयर करने के लिए !
मेरी नयी पोस्ट पर आपका स्वागत है : Blind Devotion - अज्ञान

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

आपने हमको बढिया जानकारी दी, आपका आभार, क्या भारत में भी ऐसी ही कोई जगह है?

शिक्षामित्र said...

सुन्दर तस्वीरें। आपने यात्रा की प्यास जगा दी।

Harsh said...

bahut khoob alpana ji.. ab kuch naya daliye. lambe samay se aapki koi post padne ko nahi mili hai

mahendra srivastava said...

तस्वीरों को देखने के बाद लगा कि मैं भी वहां घूम आया। बहुत सुंदर

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

कल 17/06/2011 को आपकी कोई पोस्ट नयी-पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही है.
आपके सुझावों का हार्दिक स्वागत है .

धन्यवाद!
नयी-पुरानी हलचल

manu shrivastav said...

बहुत है जानकारीदार पोस्ट ! पढ़ के अच्छा लगा .

veerubhai said...

शहर के अप्रतिम सौन्दर्य का रस पान दृश्य पान किया आपके सौजन्य से .आभार .