आप का स्वागत है!


''यूँ तो वतन से दूर हूँ लेकिन इस की मिट्टी मुझे हमेशा अपनी ओर खींचे रहती है''

छपते-छपाते Blog in News

'व्योम के पार' ब्लॉग और इसकी लेखिका के बारे में जानिये और  क्या कहा गया  ? यहाँ  और  यहाँ 

मैं -सभी पत्र-पत्रिकाओं के संपादक एवं लेख के लेखकों को धन्यवाद देना चाहती हूँ और आभार प्रकट करना चाहती हूँ कि उन्होंने मेरे कार्य को अपने पत्र में स्थान दे कर सराहा और प्रोत्साहन दिया। -------------------------------------------------------------------------

राजस्थान पत्रिक के एक अंक में महिला दिवस पर प्रकाशित 


इस खबर के प्रकाशित होने की सूचना श्री महेंद्र शर्मा जी ने दी है।..मेरे अनुरोध पर उन्होंने उस पेपर की कटिंग भेजी। उनको विशेष धन्यवाद। 
--------------------------------------------------------------------------

2 अगस्त 2013 को दक्षिण भारत राष्ट्रमत के नियमित स्तंभ ‘ब्लॉग बाईट्स’ में व्योम के पार सुनने की बात
thanks to Mr Pabla ji for this cutting.

Dainik Bhaskar
श्री  रामकृष्ण गौतम जी का धन्यवाद जिन्होंने मुझे इस के छपने की सूचना देते हुए कटिंग भी भेजी.


धन्यवाद पाबला जी का जिनके ब्लॉग पर यह खबर की खबर  छपी.



[Click picture to read]
From few pictures
खलीज टाईम्स ,दुबई.
From few pictures

डॉ.ज़ाकिर जी को बहुत-बहुत धन्यवाद.

हिन्‍दी की महत्‍वपूर्ण महिला ब्‍लॉगर्स
अल्‍पना वर्मा: हिन्‍दी की सर्वाधिक विविध विषयक लेखन करने वाले ब्‍लॉगरों में अल्‍पना वर्मा का नाम सर्वोपरि है। उनका मूल ब्‍लॉग व्‍योम के पार (http://alpana-verma.blogspot.com) के नाम से जाना जाता है। इसके साथ ही साथ वे भारत के पर्यटन स्‍थलों पर केन्द्रित ब्‍लॉग भारत दर्शन(http://bharatparytan.blogspot.com), गीत-संगीत के ब्‍लॉग गुनगुनाती धूप(http://merekuchhgeet.blogspot.com) एवं विज्ञान संचार के ब्‍लॉग साइंस ब्‍लॉगर्स असोसिएशन (http://sb.samwaad.com) पर भी लेखन करती हैं और अपनी प्रतिभा से सबको चमत्‍कृत करती रहती हैं।
('डेली न्‍यूज एक्टिविस्‍ट' के साप्‍ताहिक परिशिष्‍ट 'संडे ड्रीम' में दिनांक 19.02.12 को प्रकाशित)

पेपर की यह  कटिंग पाबला जी के सहयोग से मिल सकी.
याद नहीं किसने भेजी थी!आभार आप का.
इस कटिंग के लिए श्री प्रकाश गोविंद जी का आभार.
इस कटिंग के लिए आशीष जी को धन्यवाद.Rajsthan Patrika Parivar 24th December,2008