आप का स्वागत है!


''यूँ तो वतन से दूर हूँ लेकिन इस की मिट्टी मुझे हमेशा अपनी ओर खींचे रहती है''

January 29, 2017

रानी पद्मिनी की शौर्य गाथा

मेवाड़ की रानी पद्मिनी
===============

वीरों की धरती राजस्थान ....
जहाँ के इतिहास में  अपनी आन-बान  के लिए बलिदान होने वालों की अनेक गाथाएँ वर्णित हैं.

एक कवि ने राजस्थान के वीरों के लिए कहा है :
"पूत जण्या जामण इस्या मरण जठे असकेल
सूँघा सिर, मूंघा करया पण सतियाँ नारेल"
{ वहाँ ऐसे पुत्रों को माताओं ने जन्म दिया था जिनका उद्देश्य अपनी भूमि  के लिए म़र जाना खेल जैसा था ...जहाँ की सतियों अर्थात वीर बालाओं ने सिरों को सस्ता और नारियलों को महँगा कर दिया था...(यह रानी पद्मिनी के जौहर की तरफ संकेत   करता है)


१३०२ ईस्वी  में मेवाड़ के राजसिंहासन पर रावल रतन सिंह बैठे थे .
उनकी रानियों में एक थी पद्मिनी जो श्री लंका के राजवंश की राजकुँवरी थी. रानी पद्मिनी का अनुपम सौन्दर्य यायावर गायकों (चारण/भाट/कवियों) के गीतों का विषय बन गया था।

वीरांगना रानी पद्मिनी - कल्पना नहीं इतिहास का सच है !

वीरांगना रानी पद्मावती - कल्पना नहीं इतिहास का सच है !
------------------------------------------------------------------
फिल्म 'जागृति' का एक लोकप्रिय गीत है -'आओ बच्चों तुम्हें दिखाएँ झांकी हिन्दुस्तान की ' ...उसमें भी राजस्थान की धरती का परिचय रानी पद्मिनी के बलिदान से दिया जा रहा है.


जिन राजपूतों के शौर्य और पराक्रम की गाथाएँ दुनिया गाती है ,आज उनके इतिहास से छेड़छाड़ की बात बहुत दुःख देती है और इस समाज की लाचारी  भी दर्शाती है कि लोकतंत्र में अपनी कुर्सी  बचाने वाले  रीढ़विहीन    प्रतिनिधि और कला के नाम पर मात्र व्यवसायिक पहलुओं को देखने वाला बड़ा वर्ग इनके स्वर को अनसुना कर रहा है.

और इसी देश में  वे लोग हैं जिन्हें इतिहास के तथ्यों से  मतलब नहीं है वे मात्र विरोधियों की हाँ में हाँ मिलाना जानते हैं.'घर फूँक तमाशा देखने वालों की तरह !'

August 10, 2016

माही--एक लघु फिल्म-एक प्रयास

अपनी लिखी एक छोटी सी कहानी को फिल्म के रूप में प्रस्तुत करने का प्रयास किया है.
आशा है आपको पसंद आएगा....

अवधि-3 मिनट ४० सेकंड     Time: 3 Minutes 40 Sec

इंटरनेट की स्पीड धीमी है और फिल्म अगर लोड  न हो रही हो तो  विडियो सेटिंग में quality२४० कर लें इससे  फिल्म जल्दी load हो जायेगी.

अपने सुझाव या टिप्पणी अवश्य दीजियेगा.