अभिशप्त माया

ग़लती से क्लिक हुई छाया एक साए की  आज सागर का किनारा ,गीली रेत,बहती हवा कुछ भी तो रूमानी नहीं था. बल्कि उमस ही अधिक उलझा रही थी माया...

October 27, 2008

दीपावली की शुभकामनाएँ[-अल्पना]


ब्लॉग जगत के सभी साथियों को मेरा प्यार भरा नमस्कार.आप सभी को दीपावली की ढेरों शुभकामनायें.इस पावन पर्व पर आप सभी की हर मनोकामना पूर्ण हो.

संभवत आप मुझे भूल गए होंगे [??] क्योंकि मैं कई दिनों से ब्लॉग पर अनुपस्थित रही हूँ.

लेकिन मुझे आप सब का प्यार- दुलार सब याद है.[शीघ्र ही अपनी रचनाएँ पोस्ट करुँगी] .




मेरी तरफ़ से ये मिठाईयां स्वीकार करें.:)


धन्यवाद.


-आभार सहित--अल्पना