Search This Blog

November 21, 2009

'एक सुहाना सफर'

१२ तारीख को बच्चों की परीक्षाएँ ख़तम हो गयी थीं..इसलिए १३ -१४ को कहीं बाहर जाने का कार्यक्रम बनाया जाना था. कहाँ जाएँ ..यह सोचते ही ध्यान आया डिब्बा का .
'डिब्बा 'ओमान देश में एक प्रायद्वीप मुसंदम क्षेत्र का एक शहर है.
यह क्षेत्र यु.ए.ई के बॉर्डर पर ही है,और यहाँ जाने के लिए UAE residents ko वीसा की ज़रूरत नहीं है.अक्सर यहाँ से वहाँ लोग छुट्टियाँ बिताने जाया करते हैं.
हमारे लिए पहली बार वहाँ जाना हुआ.लगभग चार घन्टे में हम डिब्बा पहुचे.
शहर के शोर शराबे से दूर सागर का खूबसूरत किनारा और यह निर्जन स्थान एक अलग ही सुकून सा देता है.बहुत से लोग आगे भी जाते हैं मुसंदम में लेकिन हम वहाँ नहीं जा पाए ,इसलिए सिर्फ़ डिब्बा तक गये.
आप भी देखीए इस यात्रा के कुछ चित्र ... डिब्बा के सागरकिनारे की खूबसूरती ..जो इस रेगिस्तान में प्रकृति से जुड़ने एक अनूठा अनुभव देती है.

DSCN3487waytodibba
waytodibba3DSCN3473
DSCN3493DSCN3483
DSCN3499DSCN3498
DSCN3509DSCN3501
DSCN3548 DSCN3563
donkeynearhotelDSCN3592

DSCN3634before leaving
silentseaDSCN3675


--------------------------------

आज का गीत -

'वादियां मेरा दामन' mera ek प्रयास है-फिल्म 'अभिलाषा 'से.

अगर प्लेयर काम नहीं कर रहा तो Click here to Download or Play Mp3

57 comments:

Udan Tashtari said...

फोटो के माध्यम से डिब्बा घूम लिए. सुन्दर जगह लग रही है. आपका आभार घुमाने का.

योगेन्द्र मौदगिल said...

वाह अल्पना जी, नयनाभिराम विवरण.. आनंद आ गया..

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

चित्रों से सजी-सँवरी पोस्ट के लिए साधुवाद!

"अर्श" said...

भारत में सर्दी की गुनगुनी सुबह और साथ में आपके यहाँ की
यह सुबह से लेकर शाम ,.. वाह मजा आगया डिब्बा पहले तो पढ़
कर अजीब लगा मगर देखा तो अव्वाक रह गया ,... सूरज , समुद्र
सुबह और हसीन शाम , मुबारक हो अल्पना जी .... छुट्टियों में
परिवार के साथ घुमाने का अपना ही एक आनंद है.... गीत सुन रहा हूँ
इस बारी कोई शिकायत नहीं है आपसे क्युनके निचे आते ही
आपके मधुर आवाज़ में गोता लगाने लगा ....बहुत बहुत बधाई
और आभार आपका...

आपका ही
अर्श

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

बहुत सुंदर जगह है। पर क्या करें, हम तो इतनी दूर बैठे हैं, वर्ना अभी प्रोगाम बनाते।
--------
क्या स्टारवार शुरू होने वाली है?
परी कथा जैसा रोमांचक इंटरनेट का सफर।

Anil Pusadkar said...

सच में स्वर्ग है डिब्बा।और गाना भी मेरा मनपसंद है।

Mahfooz Ali said...

chitron se saji yeh yaatra vritaant bahut achcha laga... foto grafs to bahut hi sunder hain..... aapne hamein bhi DIBBA ki sair kara di... iske liye bahut bahut shukriya....

bahut achchi lagi yeh post....

महफूज़ अली said...

chitron se saji yeh yaatra vritaant bahut achcha laga... foto grafs to bahut hi sunder hain..... aapne hamein bhi DIBBA ki sair kara di... iske liye bahut bahut shukriya....

bahut achchi lagi yeh post....

अनिल कान्त : said...

chitra bahut manmohak hain
gana to hai hi best

मीत said...

वाह आपने तो यहीं बैठे बैठे हमें भी डिब्बे की सैर करा दी...
सच में बहुत सुंदर जगह है...
अल्पना जी आपने मुक्तक के बारे में नहीं लिखा...
कब लिखोगे...
मीत

Arvind Mishra said...

बेहद खूबसूरत ,नयनाभिराम ! आभार !

वन्दना अवस्थी दुबे said...

क्या खूबसूरत जगह है डिब्बा...और आपकी आवाज़ ? क्या कहूं? गीत भी बहुत मौके का चुना आपने.

काजल कुमार Kajal Kumar said...

वाह जी वाह बल्ले बल्ले..आज तो घर बैठे बिठाए ही अच्छा घूमना हो गया. बहुत सुंदर फोटो. धन्यवाद.

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

BEAUTIFUL PLACE

रश्मि प्रभा... said...

sundar chitra yaatra aur geet......mazaa aa gaya

Anonymous said...

'Wadiyan mera daman-:
Excellent Performance!

-Kamath

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सुंदर तस्वीर. पहली ही बार नाम सुना था इतनी खूबसूरत जगह डिब्बा का.

गीत हमेशा की तरह बहुत ही खूबसूरत और कर्णप्रिय लगा. शुभकामनाएं.

रामराम.

राज भाटिय़ा said...

चित्र बहुत ही सुंदर लगे, हमारे मित्र ने कई बार बुलाया... लेकिन डर लगता है दुबई नाम से ही, बस ऊपर से निकल जाते है, अभी कुछ दिन पहले दोस्त वापिस जर्मन घुमने आया था, उस की बाते सुन कर दिल ओर भी डर गया
आप की आवाज मै गीत भी बहुत सुंदर लगा
धन्यवाद

Science Bloggers Association said...

जारी रहे ये सुहाना सफर।
------------------
सिर पर मंडराता अंतरिक्ष युद्ध का खतरा।
परी कथाओं जैसा है इंटरनेट का यह सफर।

रंजना [रंजू भाटिया] said...

बहुत सुन्दर चित्र और गाना .वाकई सुंडा जगह है नाम डिब्बा पर जगह बहुत बेहतरीन है :)

नीरज गोस्वामी said...

नयना भिराम चित्र...डिब्बा घुमाने का शुक्रिया...
नीरज

ज्ञानदत्त G.D. Pandey said...

नाम भी बढ़िया - डिब्बा। और जगह भी खूबसूरत!

creativekona said...

इन सुन्दर फ़ोटोग्रैफ़ को देख कर लगा मैं खुद वहां पहुंच गया हूं ----बहुत खूबसूरत फ़ोटो।
हेमन्त कुमार

प्रकाश पाखी said...

डिब्बा के सफ़र की बेहद सुनदर तस्वीरें आपकी मधुर स्वर लहरियों को सुनते हुए अत्यंत रोमांटिक लग रही थी.शानदार प्रस्तुति!

खुशदीप सहगल said...

काश हम भी अगर बच्चे होते...अल्पना जी हमें भी डिब्बा घूमने का मौका मिलता...

और मेरा प्रिय गीत सुनाने के लिए शुक्रिया...

जय हिंद...

योगेश स्वप्न said...

alpna ji, chaliye chitron ke madhyam se hi sahi aapke saujanya se hum bhi duniya dekh lete hain.

geet madhur. badhaai.

सतीश सक्सेना said...

बहुत सुंदर जगह की सैर कराने के लिए धन्यवाद !

शरद कोकास said...

रेल के डिब्बे मे बगैर बैठे डिब्बा देख लेना कितना अच्छा लगा ।

दिलीप कवठेकर said...

आप एक अच्छी छाया चित्रकार भी हैं, ये इन चित्रों से मालूम पडता है. हमें इस सुंदर जगह की सैर कराने के लिये धन्यवाद!

डिब्बा जैसी जगह का यू एस पी शायद पहाड हैं, जो हमें ड्रुष्यों का सुख देता है. क्या ये जगह उतनी ही गर्म है जितना कि यू ए ई?

आपके चित्रों में आपका फ़ॆमिली फोटो भी होता तो हमें और प्रसन्नता होती.

गीत हमेशा की तरह सुरीला गाया है. आपके गीतों का चयन बढिया होता है.

दिलीप कवठेकर said...

साईड बार में कुछ भी दिख नहीं रहा है?

JHAROKHA said...

अल्पना जी,
इतनी खूबसूरत जगह की सुन्दर तस्वीरें देख कर बहुत अच्छा लगा। इस खूबसूरत जगह की सैर करवाने के लिये हार्दिक धन्यवाद्।
पूनम

हरकीरत ' हीर' said...

वाओ ....लाजवाब तस्वीरें .....बेहद ही खूबसूरत है आपका ये अजीब से नाम वाला शहर .......बहुत नसीब वालीं हैं जो इन हसींवादियों की सैर मयस्सर है ....मधुर आवाज़ फिर सुनने आउंगी ......!!

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

कमाल है! रेगिस्तानी इलाके में इतनी खूबसूरती बिखेरी हुई है प्रकृ्ति ने.... यदि आप जगह का नाम न बताती तो हम तो यही समझते कि ये कोई योरूप की जगह होगी....
एकदम मनोरम दृ्श्य्!!

आपका भेजा वो गीत बहुत ही बढिया लगा....बेहद कर्णप्रिय! दिन में कम् से कम दो बार तो सुन ही लेता हूँ....

दिगम्बर नासवा said...

LAJAWAAB CHITRON KE SAATH DIBBA KI KHOOBSOORTI KO UTAARA HAI ... AUR GEET BHI USKE ANUSAAR HI LAGAAYA HAI ... VAAH .. AANAND LE RAHA HUN ... VADIYAAN MERA DAANAM ...

श्याम कोरी 'उदय' said...

... बेहद खूबसूरत व दर्शनीय !!!!!!

BrijmohanShrivastava said...

सागर का खूबसूरत किनारा ,निर्जन ,शोर शराबे से दूर , खूबसूरत जगह के खूबसूरत चित्र ,सत्रहवें चित्र मे आपकी भी तस्बीर है ।आल माउन्टेन से गुडवाय डिब्बा तक सभी चित्र मनमोहक ।आप भाग्यशाली है ।

MUFLIS said...

"dibbaa" ki khoobsurat vaadiyoN meiN ghumaane ka bahut-bahut shukriyaa....
aur
"vaadiyaaN meraa daaman..."
bahut hi achaa gaya aapne...
laykaari aur notes ko poora-poora dhyaan meiN rakhte hue...
badhaaee .

खुशदीप सहगल said...

अल्पना जी,
अभी परसों ही अमोल पालेकर जी का 65वां जन्मदिन था...उस दिन ये गीत भी खुद-ब-खुद याद आ गया था...अब
बार-बार आपकी आवाज़ की तारीफ़ क्या करूं...

जय हिंद...

Harsh said...

safar achcah laga..... jaankari ke liye aapka aabhaar...

ज्योति सिंह said...

meri mitr ne bataya ki bahut umda gati hai main turant aakar gaane suni aesa laga saare sangrah aap mere utha lai ,kai gaane suni aur tippani ke liye jagah khojati rahi aur ghanto intjaar ke baad yahan aana pada ye bhi post shaandar hai .

गौतम राजरिशी said...

लाजवाब तस्वीरें मैम...

और ये गीत तो मेरा हमेशा से पसंदीदा रहा है।

sidheshwer said...

बढ़िया यात्रा
बढ़िया चित्र !

panchayatnama said...

'डिब्बा' (ओमान देश में एक प्रायद्वीप मुसंदम क्षेत्र का एक शहर) के बारे में आपके इस लेख को पढ़ के मेरी जानकारी भी बढ़ी और चित्रों के जरिये वर्णन करने से मेरे मानस पटल पे इसकी छवि लम्बे समय तक भी रहेगी.

Kishore Choudhary said...

वाह बहुत सुंदर.
गीत तो बहुत बढ़िया.

अमिताभ श्रीवास्तव said...

ab "DIBBA" ko bhi jaanaa. aap yah bahut khoob kar rahi he. achhi post ke saath geet..wah..maza aa gayaa. aapke jo geet hote he vakai man ko chhoo jaane vale hote he..

Devendra said...

चित्र और गीत का तालमेल बहुत अच्छा है।

क्रिएटिव मंच said...

डिब्बा' (शहर) के बारे में सुन्दर जानकारी प्राप्त हुयी

आप की आवाज मै गीत बहुत सुंदर लगा
शुभ कामनाएं


★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
प्रत्येक बुधवार रात्रि 7.00 बजे बनिए
चैम्पियन C.M. Quiz में

★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
क्रियेटिव मंच

dinesh said...

very nice post as well as all blog. really i like it.

रंजना said...

Der se aane ke liye kshamaprarthi hun...aswasthta ke karan net ke kati rahi in dino...
Par aapke saath in sundar vadiyon me bhraman murjhaye man ko khila gaya...
Aankhon ko baandh liya in manohar chitron ne...Bahut bahut aabhar...

राजेश बुढाथोकी 'नताम्स' said...

Nice Post!! Nice Blog!!! Keep Blogging....
Plz follow my blog!!!
www.onlinekhaskhas.blogspot.com

kshama said...

Aapne sachitr sair karva dee!

शहरोज़ said...

आपके दोनों ब्लॉग देखे. बहुत ही सुंदर पेशकश और संयोजन भी! लिखने का अंदाज़ बहुत ही अपीलींग!

मानसी said...

वाह! डिब्बा की तस्वीरें तो बहुत सुंदर हैं। आपकी पिछली पोस्ट भी पढ़ी। जानकारी और बिल्कुल सही मनोस्थिति का बयान किया है आपने। हम भी रह चुके हैं ४ साल साउदी में, इसलिये इस मनोस्थिति से ख़ुद को रिलेट कर सकते हैं। इसमें क्या शक़ है कि स्थायित्व का अपना सुख है। पर ये अस्थाई वीसा देने वाले देश भी हमें काफ़ी कुछ देते हैं, सिखा जाते हैं। आपको सम्मान की भी बधाई।

Anonymous said...

tasveeren Bahot khoob..
Alpana ji..

Bahot din baad aap ka song suna...
aap aawaz mein thahraao.. wah wah..
variations.. laa jawab... aur mixing.. outstanding ...

Thanks & Regards
MKM

Dr. Mahesh Sinha said...

वह अति सुन्दर . भतीजा अबू धाबी में ही है और भइया ओमान में. वर्षों से आग्रह है उनका वहां आने का . आपके चित्र देखकर तो अब जल्दी ही कार्यक्रम बनाना पड़ेगा

डॉ. मनोज मिश्र said...

bahut hee khushgvar post .

Anonymous said...

pretty cool stuff here thank you!!!!!!!